30 Nov - -0001

Haribhawan, Kantabanji

श्री हरिभवन

“हरिभवन” नगर के ह्रदय स्थल ईन्दिरा चौक से कुछ कदमो की दुरी में स्थित अग्र समाज का आधार स्तम्भ है ,जहा श्री अग्रवाल सभा ट्रस्ट का मुख्यालय है, लगभग ५००० वर्ग फुट में बनी हुई ये तीन मंजिला इमारत है , जिसके भूतल में ६ दुकाने , श्री अग्रवाल सभा ट्रस्ट का कार्यालय ,एक स्टोर रूम , श्री अग्रसेन जी का  मंदिर ,एक हाल सहित १०  कमरे है , द्वितीय तल में जरुरी सामानों का स्टोर रूम ,१३  कमरे और एक हाल है , ऊपर तीसरी मंजिल  में विभिन्न समारोह के आयोजन  हेतु दो किचन,एक शेड और एकखुला हाल है जहा कई मांगलिक कार्य और आयोजन होते है ,

सर्व सुधिया युक्त इस भवन का इतिहास बहुत ही गौरव शाली रहा है,

इतिहास -

दिनांक  २४.०९.१९७६ में अग्रवाल सभा के तत्कालीन अध्यक्ष  श्री तेलु राम अग्रवाल के कार्यकाल में इस भवन का जीर्णोउद्धार  श्री रामचंद्र बेहेरा ( ias,तत्कालीन उपजिलापाल ,टिटलागढ)  के कर कमलो से  हुआ इसके निर्माण के लिए नगर के दान दाताओं ने मुक्त हस्त से दान दिया ,बिना किसी सरकारी सहायता के और अनेक दानदाताओ के तन मन धन के  सहयोग से इसका जीर्णोउद्धार लगभग ३  वर्षो  में पूर्ण हुआ ,दिनाक ३०.१०.१९७३ से दिनाक २३.०९.१९७६ के मध्य इसका निर्माण कार्य संपन्न हुआ , इस निर्माण में तत्कालीन सचिव श्री सतनारायण जी आर्य सहित सभी कार्यकारिणी सद्सयो का विशेष योगदान रहा |

समय समय पर इसका पुनर्निर्माण और रिपेयरिंग होती रही है , वर्तमान में ये एक धर्मशाला की तरह सुचारू रूप से चालू है , साथ ही किसी भी मांगलिक प्रसंग हेतु अग्रवाल समाज सहित दीगर समाज के लोगो के लिए भी न्यूनतम किराये में उपलब्ध  है ,यहाँ विवाह और उत्सव  और किसी भी मौके में उपयोग आने वाली कई जरुरी वस्तुए जैसे बरतन ,चुलहे इत्यादि ,भी न्यूनतन किराये में समाज बंधुओ के लिए उपलब्ध है ,

बदलते समय के साथ-साथ इसके मूलभुत ढांचे में बहुत कुछ परिवर्तन हुए है,अपने निर्माण काल से वर्ष १९९६ तक इसका मुख्य  प्रवेश द्वार हरिभावन के बाजू में स्थित  गली से था, वर्ष १९९६ -९७ में तत्कालीन अध्यक्ष  श्री सतनारायण अग्रवाल( डीश वाले) एव सचिव श्री अशोक बंसल  के कार्यकाल में इसका  नविनिकरण  करते हुए  इसका मुख्य द्वार रोड न. ३ की और दुर्गा  पंडाल के सामने से किया गया,  

सत्र २०१५-१७ में अध्यक्ष श्री अनिल अग्रवाल(ब्रदर्स) एव सचिव श्री कैलाश चन्द्र अग्रवाल के कार्यकाल में भवन के ज्यादातर हिस्सों  को टाइल्स  से सुसज्जित किया गया, भवन के लगभग सभी भागो में छतो में प्लास्टर of पेरिस का काम किया गया, 

सत्र २०१९ -१९  में अध्यक्ष श्री अनिल अग्रवाल (रूबी) एव सचिव संजय अग्रवाल(कस्तूरचंद) में हरिभवन के टॉप फूर में डूम एव स्थायी स्टेज बनाया गया एव ग्राउंड फ्ल्लोर में स्थित वस्तु भण्डार को ऊपर तल में स्थान्तरित करके वहा एक वातानुकूलित डोरमेटरी बनाया गयी, सीसीटीवटी कैमरा लगवाया गया,

सत्र २०१९-२०२१ के अध्यक्ष श्री कैलाश चंद  अग्रवाल एव सचिव अजय अग्रवाल के मार्गदर्शन में इसके संयोजक द्वय श्री अनूप जिंदल(सुहाग भण्डार) एव श्री आशीष अग्रवाल (बद्री) के सक्रीय योगदान से सभा के कार्यालय को आधुनिकी करण किया गया,सामने सभी दुकानों एव मुख्य द्वार के ऊपर शेड बनाया गया,दिनाक १३/०५/२०१९  को भवन के सामने एक स्थायी  शीतल पेय जलप्रकल्प की व्यवस्था की गयी, 

आज भी श्री अग्रवाल सभा ट्रस्ट  की  सभी सभाए और अग्रसेन जयंती  से संबधि सभी  महत्वपूर्ण कार्यक्रम यही संपन्न  होते है , ये हमारी पुरखो की दूरदर्शिता का जीवंत उदाहरण है , जिनकी वजह से आज नगर के ह्रदय स्थल में हमें इतना सर्व सुविधा युक्त भवन उपलब्ध है  जो की दैनिक और सामयिक कार्यो हेतु  बहुत ही उपयोगी साबित हो रहा है,

भविष्य में इसके विस्तार की कई योजनाये है , जैसे की इसके आगे के भाग को पूरा नए  सिरे से बनाना , वातानुकूलित कमरे का निर्माण ,और  भवन का सौन्दर्यीकरण , इत्यादि कई योजनाये  विचाराधीन है ,

कुल मिलाकर हरिभवन नगर के अग्रवंश के इतिहास में एक मील का अद्वितीय पत्थर है ,जो हमें समाजवाद और एकजूटता की प्रेरणा देता है ,ये आस पास के अंचल में अपनी तरह का पहला सर्वसुविधायुक्त  सामजिक भवन है , इसके संचालन का भार वर्तमान में श्री अग्रवाल सभा ट्रस्ट द्वारा किया जाता है ,